Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं?

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं

बूटेबल पेन ड्राइव बनाने के लिए आप Rufus का इस्तेमाल कर सकते हैं। किसी भी तरह की पेन ड्राइव को बूटेबल बनाने के लिए Rufus का स्टेप बय स्टेप टुटोरिअल इस आर्टिकल में दिया गया है।

Rufus पोर्टेबल सॉफ्टवेयर है जीसका इस्तेमाल करके हम आसानी से बूटेबल पेन ड्राइव बना सकते है। Rufus फ्री और ओपन सोर्स टूल है।

Rufus नार्मल पेनड्राइव को ही बूटेबल पेन ड्राइव में बदल देता है जिससे हम एक ही पेनड्राइव में जितनी बार चाहे अलग अलग ऑपरेटिंग सिस्टम को दाल सकते है।

Rufus के कुछ मुख्य काम:

  • ये ISO फ़ाइल से USB इंस्टॉलेशन डिवाइस बनाता है।
  • ये किसी भी डेस्कटॉप कंप्यूटर या लैपटॉप में ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल करने के लिए डिवाइस को बूटेबल बनाता है।
  • इसका इस्तेमाल BIOS को फ्लैश करने के लिए भी किया जाता है।
  • इसको किसी इनपुट और आउटपुट डिवाइस के साथ भी चला सकते है।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं?

Rufus का इंटरफेस एक दम सिंपल है जिससे इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान हो जाता हैं। ये अपने फ़ास्ट परफॉरमेंस के लिए भी जाना जाता है और ये सबसे ज्याद इस्तेमाल किया जाने वाला विंडोज का सॉफ्टवेयर है जिसकी मदद से बूटेबल पेनड्राइव बनाई जाती है।

Rufus की मुख्य विशेषताएं:

  • ये पूरी तरह से फ्री होने के साथ-साथ ओपन-सोर्स भी है।
  • ये पोर्टेबल सॉफ्टवेयर है।
  • ये बूटेबल डिस्क बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • ये USB ड्राइव पर खराब ब्लॉकों की जाँच के लिए इस्तेमाल भी किया जाता है।
  • ये checksum के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

वैसे तो कई टूल है जिसका इस्तेमाल करके आप बूटेबल डिवाइस या मल्टी बूटेबल पेनड्राइव बना सकते है, जैसे Universal USB Installer, BalenaEtcher, YUMI, इत्यादि। लेकिन Rufus काफी पुराना और भरोसेमंद टूल है। स्टेप बय स्टेप जानते है की Rufus कैसे काम करता है:

Rufus का इस्तेमाल करके Windows ISO के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं?

पेनड्राइव को बूटेबल बनाने के लिए आपके पास:

  • आपकी पसंद का ISO होना चाहिए, जैसे विंडोज 10 या विंडोज 11
  • Rufus का लेटेस्ट वर्जन होना चाहिए।
  • एक पेनड्राइव, जो की कम से कम 8GB या उससे ज्यादा की होनी चाहिए।

1सबसे पहले Rufus को उसकी ऑफिसियल वेबसाइट से डाउनलोड करे। ध्यान रहे की आपको हर बार लेटेस्ट वर्जन का इस्तेमाल करना है।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 1 in Hindi

2अब Rufus को खोले

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 2 in Hindi

3अब Pendrive को अपने सिस्टम (कंप्यूटर / लैपटॉप) से कनेक्ट करे। वैसे तो इसमें ऑटो डिटेक्ट फीचर है। पेनड्राइव लगाते ही ये अपने आप डिटेक्ट कर लेगा।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 3 in Hindi

4अब Disk or ISO image (Please select) ऑप्शन को सेलेक्ट करे

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 4 in Hindi

5अब SELECT बटन पर क्लिक करे और Windows की ISO फाइल को सेलेक्ट करे। (जीसे अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में इनस्टॉल करना चाहते है)

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 5 in Hindi

6अब Partition Scheme में MBR ऑप्शन और Target system में BIOS (or UEFI-CSM) ऑप्शन को सेलेक्ट करे।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 6 in Hindi

7अब Volume Label में कुछ भी नाम रख सकते है

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 7 in Hindi

ये केवल आपकी पेनड्राइव या USB ड्राइव का नाम ही बदलेगा जिसे आप कभी भी फिर से बदल सकते है। ये स्टेप ऑप्शनल है अगर इस स्टेप को छोड़ भी देंगे तभी कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

8अब File System में NTFS सेलेक्ट करे।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 8 in Hindi

9अब START बटन पर क्लिक करे।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 9 in Hindi

10अब OK पर क्लिक करे।

अगर आप चाहे तो अपने जरुरत के हिसाब से इन बॉक्स को सेलेक्ट कर सकते है या फिर बिना सेलेक्ट करे भी OK कर सकते है।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 10 in Hindi

11अब OK पर क्लिक करे।

यहाँ पर OK बटन पर क्लिक करने से पहले अपनी पेनड्राइव का बैकअप जरूर ले ले क्यूंकि OK बटन पर क्लिक करते है आपकी पेनड्राइव फॉर्मेट हो जाएगी और सारा डाटा चला जाएगा।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 11 in Hindi

Rufus का इस्तेमाल करके Linux ISO के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं?

पेनड्राइव को बूटेबल बनाने के लिए आपके पास:

  • आपकी पसंद का ISO होना चाहिए, जैसे Ubuntu, Linux Mint, Fedora, Kali Linux, etc.
  • Rufus का लेटेस्ट वर्जन होना चाहिए।
  • एक पेनड्राइव, जो की कम से कम 8GB या उससे ज्यादा की होनी चाहिए।

1सबसे पहले Rufus को उसकी ऑफिसियल वेबसाइट से डाउनलोड करे। हर बार लेटेस्ट वर्जन को ही डाउनलोड करे।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 1 in Hindi

2अब Rufus को खोले

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 2 in Hindi

3अब Pendrive को अपने सिस्टम (कंप्यूटर / लैपटॉप) में लगाए

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 3 in Hindi

4अब Select बटन पर क्लिक करे और Linux ISO फाइल को सेलेक्ट करे। (जीसे आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में इनस्टॉल करना चाहते है)

जब आप लिनक्स की ISO फाइल को सेलेक्ट करेंगे तब आपको कुछ एक्स्ट्रा फंक्शन दिखाई देंगे जो की विंडोज ISO फाइल को सेलेक्ट करते वक़्त नहीं होते है। लेकिन उन एक्स्ट्रा फंक्शन को आप ना छेड़े।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 4 in Hindi

5अब Partition Scheme में MBR ऑप्शन और Target system में BIOS or UEFI ऑप्शन को सेलेक्ट करे।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 5 in Hindi

6अब Volume Label में कुछ भी नाम रख सकते है

ये केवल आपकी पेनड्राइव या USB ड्राइव का नाम ही बदलेगा जिसे आप कभी भी फिर से बदल सकते है। ये स्टेप ऑप्शनल है अगर इस स्टेप को छोड़ भी देंगे तभी कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 6 in Hindi

7अब File System में FAT32 सेलेक्ट करे और Cluster size में 16 kilobytes (Default) सेलेक्ट करे।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 7 in Hindi

8अब Start बटन पर क्लिक करे।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 8 in Hindi

9अब Write in ISO Image mode (Recommended) ऑप्शन को सेलेक्ट करे और फिर OK बटन पर क्लिक करे।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 9 in Hindi

10अब OK बटन पर क्लिक करे।

अगर आप पेनड्राइव को बूटेबल बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल पहली बार कर रहे है वो भी Linux ISO फाइल के साथ, तो ये ऑप्शन तभी दिखाई देगा। अगर आप पहले भी पेनड्राइव को बूटेबल बना चुके है लिनक्स के लिए तब ये ऑप्शन आपको नहीं दिखाई देगा।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 10 in Hindi

11अब फिर से OK बटन पर क्लिक करे।

Rufus का इस्तेमाल करके Linux IOS के लिए बूटेबल पेनड्राइव कैसे बनाएं | Step 11 in Hindi

Rufus उसी कंप्यूटर में काम करेगा जिसमे पहले से विंडोज इनस्टॉल है। अगर किसी कंप्यूटर में लिनक्स इनस्टॉल है तो ये सॉफ्टवेयर उस में नहीं चलेगा। बस यही Rufus की सबसे बड़ी कमी ये है।

लेकिंग इससे आप किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम की ISO फाइल का इस्तेमाल करके बूटेबल पेनड्राइव बना सकते हो। जैसे की Windows, Linux और Mac।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे?

पेनड्राइव को बूटेबल बनाने के लिए हमे ISO फाइल की जरुरत होती है। अगर ISO फाइल हमारे पास नहीं है तो उसे हम डाउनलोड भी कर सकते है। लेकिन सवाल ये है की ऑपरेटिंग सिस्टम की ISO फाइल कहाँ से डाउनलोड करे?

किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम की ISO फाइल आपको उसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर से मिल जाएगी। या फिर आप Rufus का इस्तेमाल कर सकते है इससे आपको अलग से कोई फाइल डाउनलोड नहीं करनी होगी ये खुद ही ISO फाइल को डाउनलोड करके पेनड्राइव को बूटेबल बना देगा।

इससे आपका टाइम भी बचेगा और अलग फाइल को डाउनलोड करके फिर पेनड्राइव को बूटेबल नहीं बनाना होगा।

1सबसे पहले Rufus को खोले।

Rufus का इस्तेमाल करके बूटेबल पेन ड्राइव कैसे बनाएं | Step 2 in Hindi

2अब SELECT बटन के पास में एक छोटा एरो होगा उस पर क्लिक करे और ड्रापडाउन में से DOWNLOAD को सेलेक्ट करे।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 1 in Hindi

3अब DOWNLOAD बटन पर क्लिक करे।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 2 in Hindi

4अब आपको एक पॉपअप दिखेगा उसमे से आपको Windows का कौन सा वर्जन डाउनलोड करना है वो चुने और Continue पर क्लिक करे।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 3.0 in Hindi
बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 3.1 in Hindi

5अब Windows का Release वर्जन सेलेक्ट करे और Continue पर क्लिक करे।

जैसे मैंने Windows 11 को सेलेक्ट किया तो Windows 11 लांच होने के बाद जितने भी अपडेट आए होंगे वो सब आपकी इस लिस्ट में दिख जाएगा। मेरी सलहा है की हर बार लेटेस्ट वाला ही सेलेक्ट करे।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 4.0 in Hindi
बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 4.1 in Hindi

6अब Windows का Edition सेलेक्ट करे और Continue पर क्लिक करे।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 5 in Hindi

7अब Language सेलेक्ट करे और Continue पर क्लिक करे।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 6 in Hindi

8अब Architecture सेलेक्ट करे और Continue पर क्लिक करे।

इस स्टेप में आप दो तरह से विंडोज को डाउनलोड कर सकते है। पहला Architecture सेलेक्ट करे और Continue पर क्लिक कर दे तो Rufus में ही फाइल डाउनलोड होनी शुरू हो जाएगी (ये फाइल पेनड्राइव के बूटेबल बनते ही अपने आप डिलीट हो जाएगी)। दूसरा ये की Download using a browser को सेलेक्ट करे और Continue पर क्लिक कर दे, इससे ये Windows की ISO फाइल ब्राउज़र के जरिए डाउनलोड कर देगा (जिसको आप बाद में भी काम में ले सकते है)।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 7 in Hindi

9अब Windows 11 डाउनलोड होना शुरू हो जाएगी।

बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए Rufus का इस्तेमाल करके हम ISO को कैसे डाउनलोड करे | Step 8 in Hindi

अब Windows डाउनलोड होने के बाद बूटेबल पेनड्राइव बनाने के लिए आपको ऊपर बताए स्टेप को फॉलो करना होगा।

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों, परिवार जनो और सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे और हम से जुड़े रहने और लेटेस्ट अपडेट के लिए आप हमें Facebook पर फॉलो करे।

Dharmendra Author on Web Janakari

मेरा नाम धर्मेंद्र मीणा है, मुझे तकनीक (कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन्स, सॉफ्टवेयर, इंटरनेट, इत्यादि) से सम्बन्धी नया सीखा अच्छा लगता है। जो भी में सीखता हु वो मुझे दुसरो के साथ शेयर करना अच्छा लगता है। इस ब्लॉग को शुरू करने का मेरा मकसद जानकारी को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक हिंदी में पहुंचना है।

शेयर करे:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *